फलाहारी भेल

फलाहारी भेल

मूँगफली में प्रोटीन बहुतायत में होता है और मखाने में कार्बोहाईड्रेट.

इन फलाहारी मेवे के साथ बनाई गयी यह भेल व्रत के दिनों में अति उत्तम रहती है. तो बनाइए इस आसान भेल को……इस विधि में भेल या लईया तो है ही नहीं ! – लेकिन व्रत में अन्न वर्जित है, इसीलिए यह भेल है -मखाने की !

सामग्री
(4 लोगों के लिए)

  • कच्ची मूँगफली ¾ कप
  • माखाने 2 कप
  • सेंधा नमक 1 छोटा चम्मच
  • हरी मिर्च 2
  • उबले आलू २ मध्यम
  • कटा हरा धनिया 1 बड़ा चम्मच
  • नीबू का रस 1 बड़ा चम्मच
  • तेल / घी 2½ छोटा चम्मच

बनाने की विधि :

  1. एक कड़ाही में 1½ चम्मच घी/ तेल गरम करें, अब इसमें मूँगफली को मध्यम आँच पर लगभग 10 मिनट के लिए भूनें. जब मूँगफली भुन जाएँगी तो उनका रंग बदल जाएगा और सौंधी सी खुश्बू भी आएगी. भुनी मूँगफली को अलग रखें.
  2. अब उसी कड़ाही में 1 चम्मच घी/ तेल गरम करें, और मध्यम आँच पर मखाने को भूनें जब तक कि मखाने करारे ना हो जाएँ. इसमें 2-3 मिनट का समय लगता है. मखाने को ठंडा होने के लिए अलग रखें.
  3. उबले आलू को छीलकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें.
  4. हरी मिर्च का डंठल हटाकर उसे धो लें और फिर बारीक काट लें.
  5. अब एक कटोरे में भुनी मूँगफली, मखाने, सेंधा नमक, हरी मिर्च,और कटे आलू लें. सब सामग्री को अच्छे से मिलाएँ. इसमें नींबू का रस डालें और फिर अच्छे से मिलाएँ.
  6. फलाहारी भेल तैयार है सर्व करने के लिए.

चटपटी करारी भेल को तुरंत सर्व करें नही तो मखाने सील जाएगें.

कुछ नुस्खे/ सुझाव

अगर आप भारत से बाहर रहते हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि कच्ची मूँगफली और मखाने इंडियन स्टोर्स में आसानी से मिल जाएगें.

अगर आप चाहें तो मूँगफली और मखाने को पहले से भून कर एयरटाइट डिब्बे में रख लें और जब भेल बनानी हो तो बाकी सामग्री डाल लें.

मोना के व्रत विशेष में और भी देखिये : अरबी के फलाहारी कबाब

मोना के व्रत विशेष में और भी देखिये : आलू का हलवा 

मोना के व्रत विशेष में और भी देखिये : फलाहारी थालीपीठ – व्रत विशेष